महापौर और मनपा आयुक्‍त पर हो कार्रवाई, पैदल यात्री पुल हादसे पर बोले विपक्षी…

0
185
महापौर और मनपा आयुक्‍त पर हो कार्रवाई, पैदल यात्री पुल हादसे पर बोले विपक्षी...
Share

हादसों में मासूम मुंबईकरों की जा रही जान, 35 हजार करोड़ के बजट पर ऐसी है दुर्दशा

– NDI24 नेटवर्क

मुंबई. सीएसएमटी स्टेशन के बाहर एक पैदल यात्री पुल के गिरने से 6 लोगों की मौत हो गई, जबकि 31 लोग घायल हो गए, इस दर्दनाक दुर्घटना की जिम्मेदार पूरी तरह से मुंबई नगर निगम और रेलवे प्रशासन की। पुल ऑडिट में पुल अच्छी स्थिति अच्छी बताई गई, फिर यह हादस कैसे हो गया? मुंबई के नगर आयुक्त अजॉय मेहता और महापौर विश्वनाथ महाडेश्‍वर को दुर्घटना की जिम्मेदारी लेनी चाहिए और उन्हें स्वेच्छा से इस्तीफा दे देना चाहिए। वहीं भाजपा-शिवसेना सरकार की आलोचना करते हुए मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष संजय निरुपम ने शुक्रवार को सेंट जॉर्ज अस्पताल जाकर घायलों का हालचाल लिया। पुलों की मरम्मत की कोई योजना नहीं है। यह छठा पुल है, जो पिछले दो वर्षों में ढहा है। देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में मैनहोल में किसी की मौत हुई है, इमारतें ढह रही हैं, आग लग रही है। सभी हादसों में मासूम मुंबईकरों की जान जा रही है। मुंबई महानगर पालिका का वार्षिक बजट 35 हजार करोड़ है। फिर मुंबई शहर की दुर्दशा हो रही है। वहीं  कांग्रेस ने उच्‍च स्तरीय जांच और मेहता समेत दोषी लोगों पर तत्काल कार्रवाई कर निलंबित किए जाने की मांग की है।

सरकार से सवालों के मांगे जवाब…

उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस हादसों पर बस आश्वासन ही देते हैं, जबकि कमला मिल में आग, एलफिस्टन स्टेशन पर मची भगदड़, अंधेरी के गोखले पुल के हिस्से के ढहने और सीएसटीटी स्टेशन के बाहर एक पैदल यात्री पुल के गिरने पर अभी तक कोई ठोस कार्रवाई नहीं की गई है। वहीं दूसरी ओर संजय निरुपम ने मरीजों को सांत्वना देने के बाद सरकार से तत्काल मुंबई नगर आयुक्त अजॉय मेहता के खिलाफ अब तक कार्रवाई क्यों नहीं हुई, पैदल पुल की ऑडिट रिपोर्ट को सार्वजनिक क्यों नहीं किया गया, मुंबई नगर निगम पिछली जांचों में खुद को पीछे क्यों कर रहा है जैसे कई सवालों के तत्काल जवाबों की मांग की है।

जारी किया जाए श्वेत पत्र, शरद पवार…

राकांपा सुप्रीमो शरद पवार ने सरकार से मुंबई के सभी पुलों की हुई ऑडिट की फिर से जांच करने के अलावा इस बारे में  श्वेत पत्र जारी करने की मांग की है। 11 नवंबर 2015 को लिखे गए एक पत्र का हवाला देते हुए उन्होंने शुक्रवार को कहा कि मुंबई की खस्ताहाल ब्रिज के बारे में मध्य रेलवे को पहले से जानकारी दी गई थी, लेकिन सरकार इसे रोकने के लिए कोई कारगर कदम नहीं उठा रही है।

बर्खास्त हों BMC कमिश्‍नर और महापौर , अशोक चव्हाण…

वहीं कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष अशोक चव्हाण ने कहा कि यदि सरकार में जरा सी भी शर्म बाकी है, उन्हें तुरंत महापौर व बीएमसी आयुक्त को बर्खास्त कर देना चाहिए। मुंबई हादसों का शहर बन गया है, मुंबईकरों के जीवन से खिलवाड किया जा रहा है। सरकार हादसे के लिए दोषियों पर कड़ी कार्रवाई की बात कर रही है, जबकि अभी तक एलफिंस्टन रोड हादसे में कोई कार्रवाई नहीं हुई है।

BMC और सरकार को लोगों की चिंता नहीं , राज ठाकरे…

इसी बीच महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना चीफ राज ठाकरे ने भी केंद्र सरकार व भाजपा-शिवसेना पर तंज कसते हुए शुक्रवार को कहा कि मनसे की ओर से बीएमसी और सरकार को लोगों की चिंता नहीं है। सरकार को बुलेट ट्रेन चलाने की जल्दी है। हमारी मांग है कि उसकी जगह उपनगरीय सेवा को बेहतर किया जाए।

Share