विवादित सहायक आयुक्त को लेकर उठे सवाल!, मनपा ने सौंपा प्रभाग “H” का कार्यभार…

0
248
मनपा अधिकारी सही जानकारी देने में कर रहे टालमटोल
मनपा टैक्सदाताओं को कब मिलेगा 1 लाख का बीमा लाभ!
Share

वसई-विरार शहर महानगर पालिका में विवादित और मुख्यालय में अटैच

– NDI24 नेटवर्क
वसई. वसई-विरार शहर महानगर पालिका में विवादित और मुख्यालय में अटैच सहायक आयुक्त को एक फिर मनपा प्रभाग “एच” के प्रभारी सहायक आयुक्त का पदभार पर मनपा द्वारा सौंपा गया है| आयुक्त उक्त निर्णय को लेकर मनपा गलियारे में चर्चा का विषय बना हुआ है।ज्ञात हो कि वीवीसीएमसी मनपा क्षेत्र के प्रभाग “जी” में गिल्सन गोंजाल्विस बतौर प्रभारी सहायक आयुक्त के पद पर कार्यरत थे। वसई पूर्व स्थित वालिव प्रभाग “जी” औद्योगिक बाहुल्य क्षेत्र है। यहां बड़ी संख्या में बड़े-बड़े इंडस्ट्रीज इमारतों, कॉम्प्लेक्स व रहिवासी बिल्डिंगे तथा अवैध चालियों का निर्माण किया गया हैं। प्रभारी सहायक आयुक्त के रूप में गिल्सन पर इन निर्माणों पर तोड़क कार्रवाई और निर्माणकर्ताओं पर एमआरटीपी के तहत मामला दर्ज नहीं करते हुए मनपा का करोड़ों रुपये का राजस्व डुबोये जाने का गंभीर आरोप भी लग चुका है।

क्यों नहीं जाती कार्रवाई…

चारों ओर से भ्रष्टाचार के विवादों में घिरे गिल्सन को अन्तोगत्वा मनपा मुख्या में अटैच कर दिया गया। इसके बाद इन्हे मुख्यालय में फाइलों को देखने की जिम्मेदारी दी गयी। सूत्रों की माने तो मनपा कमिश्नर का खसमखास रहे गिल्सन गोंजाल्विस का वनवास खत्म हुआ और एक फिर प्रभाग “एच” का बतौर प्रभारी सहायक आयुक्त के रूप में प्रभाग का कार्य सौंपा गया है। गिल्सन के कार्यों को लेकर एंटीकरेप्शन विभाग में इनकी और मुख्यालय में बैठे इनके आकाओं की भी शिकायत की गयी है, अब देखना यह होगा कि आखिर में इन पर गाज कब तक गिरती है। अब प्रश्न यह उठता है कि महसूल और मनपा को करोड़ो का नुकसान पहुंचाने वाले ऐसे अधिकारी मनपा आयुक्त आखिरकार क्यों भाते है? उन पर कार्रवाई क्यों नहीं जाती है?

Share