मलेरिया और डेंगू के मरीजों की संख्या घटी, मुंबई में पाए गए स्वाइन फ्लू के 36 मरीज

0
6
मलेरिया और डेंगू के मरीजों की संख्या घटी, मुंबई में पाए गए स्वाइन फ्लू के 36 मरीज
Share

पिछले साल अगस्त में नहीं मिला था एक भी मरीज

– NDI24 नेटवर्क

मुंबई. बारिश का जोर थमा जरूर है, मगर महानगर के लोग मानसूनी बीमारियों से परेशान हैं। मलेरिया और डेंगू के मरीजों की संख्या पिछले साल के अगस्त महीने के मुकाबले कम पाई गई है। सर्दी-जुकाम-बुखार वाले मरीजों की संख्या ज्यादा है। लेप्टो, मलेरिया, डेंगू, पीलिया आदि मानसूनी बीमारियां भी लोगों को चपेट में ले रही हैं। चिंताजनक यह कि स्वाइन फ्लू तेजी से पांव फैला रहा है।

मनपा अस्पतालों और स्वास्थ्य केंद्रों की तरफ से स्वाइन फ्लू पीडि़त मरीजों के उपचार में खास सावधानी बरती जा रही है। बीएमसी के मुताबिक अगस्त महीने के दौरान महानगर में स्वाइन फ्लू के 36 मामले पाए गए। पिछले साल अगस्त महीने में स्वाइन फ्लू का एक भी मरीज नहीं मिला था।  स्वाइन पीड़ित मरीज के परिजनों को भी प्रतिरोधक दवाएं दी जा रही हैं।

डेंगू के 1894 मरीज

मलेरिया, लेप्टो, स्वाइन फ्लू, डेंगू, गैस्ट्रो, पीलिया के मरीजों की संख्या पिछले साल के अगस्त से करें तो इस साल मरीजों की संख्या कम हुई है। पिछले साल अगस्त में डेंगू के 2,317 मरीज थे, जबकि इस वर्ष डेंगू के 1894 मामले पाए गए। पिछले साल मलेरिया के 853 (एक की मौत) मामले थे, जिसके मुकाबले इस साल 767 लोग मलेरिया पीडि़त पाए गए हैं। लेप्टो के 46 (3 की मौत) की तुलना में 45 मामले सामने आए हैं।

हेपेटाइटिस के बढ़े पीड़ित

2018 में गैस्ट्रो के 645 मरीज थे, जिसके मुकाबले इस साल अगस्त में 623 रोगी पाए गए। हेपेटाइटिस के 135 मामले की तुलना में इस बार 147 मामलों की पुष्टि हुई है।

उबाल कर पीएं पानी

बीएमसी के स्वास्थ्य विभाग ने बारिश के दौरान सभी लोगों से पानी उबाल कर पीने की अपील की है। साथ ही अपने घर के आसपास साफ-सफाई रखने का अनुरोध भी किया गया है।

Share