अब BJP मंत्री पंकजा मुंडे ने सीएम फडनवीस पर साधा निशाना, शिवसेना ने कहा कि एक मिनट के लिए बनाओ सीएम…

0
397
बैठक में शासकीय महापूजा को टालने और भीड़ में भक्तों के बीच सांप छोड़ने जैसी बातों पर भी चर्चा
राज्य के सीएम फडनवीस और राजस्व मंत्री पाटिल के इस्तीफे की मांग
Share

अगर हम प्रभारी होते तो अविलंब मराठा आरक्षण की मांग होती पूरी : पंकजा मुंडे

– NDI24 नेटवर्क
मुंबई. मराठा आरक्षण को लेकर महाराष्ट्र में बीजेपी नेता व ग्रामीण विकास मंत्री पंकजा मुंडे ने अपने ही मुख्यमंत्री देवेंद्र फडनवीस पर निशाना साधा है। जी हां, राज्य के बीड जिले के पारली में मराठा प्रदर्शनकारियों से मिलने गई थीं। वहां पर उन्होंने कहा कि अगर वे प्रभारी होतीं तो इस मामले में जरा भी विलंब न होती। वे आगे कहती हैं कि मराठा आरक्षण की फाइल अगर उनके पास होती तो एक पल के लिए भी विलंब न होता। वहीं शिवसेना प्रमुख उद्धव ने सीएम फडनवीस पर निशाना साधते हुए सामना में कहा कि राज्य की मंत्री पंकजा मुंडे को राज्य का मुख्यमंत्री बनाना चाहिए। फिर वे चाहें एक घंटे के लिए ही मुख्यमंत्री बनें, लेकिन उनकी टेबल पर फाइल जाते ही मराठा आरक्षण का समाधान निकल आता। मुंडे आगे कहती हैं कि सरकार के पास फाइल होते हुए भी इतनी देरी क्यों हो रही है, इससे साफ जाहिर होता है कि सीएम फडनवीस इस मामले को लेकर अब अकेले पड़ गए हैं।

…तो सीएम फडनवीस की नींद हो जाएगी हराम

वहीं बीजेपी मंत्री चंद्रकांत पाटिल के उस बयान पर कटाक्ष करते हुए शिवसेना ने कहा कि मराठा आरक्षण की क्रांति इतनी बड़ी है कि आज अगर देर रात 4 बजे तक मीटिंग करने बावजूद इस मसले का हल न निकले, तो आगे सीएम फडनवीस की नींद तक हराम हो सकती है। सामना में आगे कहा गया कि अगर इस मराठा क्रांति का हल मंत्री पंकजा मुडे के पास है तो सीएम फडनवीस के पास क्यों नहीं? बहरहाल, इस मुद्दे पर इसलिए देरी हो रही है, क्योंकि यह उच्च न्यायालय में लंबित है। भाजपा नेता एवं ग्रामीण विकास मंत्री मुंडे ने प्रदर्शनकारियों से कहा कि वह उन्हें सुनने के लिए आयी हैं और वह उन्हें कोई समझौता करने के लिए नहीं कहेंगी। पंकजा मुंडे की ओर से फडनवीस पर यह अप्रत्यक्ष निशाना ऐसे समय पर आया है, जब शिवसेना सांसद संजय राउत ने दावा किया है कि मराठा आंदोलन हिंसक होने के बाद ‘भाजपा के भीतरÓ मुख्यमंत्री को बदलने की बात हो रही थी।

Share