RTO की सख्ती से कब नियमों की अनदेखी करने वाले ऑटो ड्राइवरों की खैर नहीं

0
2
RTO की सख्ती से कब नियमों की अनदेखी करने वाले ऑटो ड्राइवरों की खैर नहीं
Share

8,050 ऑटो रिक्शा ड्राइवरों पर की गई कार्रवाई

– NDI24 नेटवर्क

मुंबई. नियमों की अनदेखी करने वाले ऑटो रिक्शा चालकों के खिलाफ मुंबई आरटीओ की ओर से सख्त कार्रवाई की रही है। 26 फरवरी से 31 जुलाई के बीच आरटीओ ने 8,050 रिक्शा चालकों के खिलाफ कार्रवाई की। इसके साथ ही आरटीओ ने 695 ऑटो रिक्शा का मीटर जब्त किया है। इससे रिक्शा ड्राइवरों में नियमों के प्रति सजगता बढ़ रही है। आरटीओं के वरिष्ठ अधिकारियों का कहना है कि री आने वाले दिनों में इस तरह की कार्रवाई जारी रहने की बात कह रहे हैं।

गौरतलब है कि फरवरी में बांद्रा में एक शेयर रिक्शा ड्राइवर ने एक यात्री से अधिक किराया मांगा। अधिक किराया न देने पर ड्राइवर ने यात्री के साथ मारपीट की। यात्री की शिकायत के बाद आरटीओ ने रिक्शा चालकों की मनमानी पर रोक लगाने के लिए कार्रवाई श़ुरू की। आरटीओ के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि रिक्शा चालक अक्सर लोगों से मनमाने ढंग से किराया मांगते हैं।

यात्री को मना किया, 955 ड्राइवरों पर कार्रवाई

अधिकारी ने बताया कि कई बार तो यात्रियों को गंतव्य तक छोडऩे से भी ऑटो ड्राइवर इंकार कर देते हैं। पूछताछ में पता चला कि रिक्शा चालकों को दूर का किराया चाहिए ताकि उन्हें ज्यादा पैसे मिल सकें। इस तरह के मामलों में  955 रिक्शा चालकों के खिलाफ कार्रवाई की गई।

नियमों की अनदेखी पड़ी भारी

मनमानी किराया वसूली के मामले में आरटीओ ने 20 रिक्शा चालकों के खिलाफ कार्रवाई की। आरटीओ नियमों की अवहेलना करने वाले 840 रिक्शा चालकों के खिलाफ लाइसेंस रद्द करने का नोटिस जारी किया गया, वहीं 550 लोगों के लाइसेंस रद्द किए गए।

899 लोगों के परमिट निलंबित

सबसे ज्यादा नियमों की अवहेलना लाइसेंस और बैच न होने के मामले में पाई गई। इसके तहत 6,434 लोगों के खिलाफ कार्रवाई की गई। इनमें से 3,650 लोगों को नोटिस जारी किया गया। वहीं लाइसेंस और बैच न होने के मामले में 899 लोगों का परमिट निलंबित किया गया।

जब्त किए गए 695 मीटर

अंधेरी वेस्ट के आरटीओ अभय देशपांडे ने बताया कि हम लोगों के लाइसेंस जब्त कर लेते थे, तो भी लोग रिक्शा चलाते रहते थे। इससे बचने के लिए हमने मीटर जब्त करने की कार्रवाई शुरू की है। आरटीओ ने 695 रिक्शों का मीटर जब्त किया है। जब तक इस तरह की घटनाएं होती रहतीं हैं, तब कार्रवाई जारी रहेगी।

Share