मनपा ने पहली बार: ब्लैक पट्टी बांध किया आंदोलन

0
31
63 पेज का पुलिस को सौंपा ज्ञापन
मनपा ने पहली बार: ब्लैक पट्टी बांध किया आंदोलन
Share

63 पेज का पुलिस को सौंपा ज्ञापन

– NDI24 नेटवर्क
विरार. वसई-विरार शहर महानगर पालिका के सभी विभागों के अधिकारी व कर्मचारी ब्लैक पट्टी बांधकर मनपा मुख्यालय पर आंदोलन किया गया| मनपा का यह आंदोलन प्रभाग “एच” के प्रभारी सहायक आयुक्त और उपशाखा अभियंता के साथ स्थानीय नागरिकों और पुलिस के अभद्र पूर्ण व्यवहार को लेकर किया गया| आंदोलन में मनपा अतिरिक्त आयुक्त रमेश मनाले , मनपा आयुक्त डॉ. किशोर गवस के मार्गदर्शन में मनपा कार्यकारी अभियंता राजेंद्र लॉड, प्रभारी सहायक आयुक्त गिल्सन घोंसाल्विस और उपशाखा अभियंता आर.के. पाटिल आदि मनपा अधिकारियों द्वारा उपविभागीय पुलिस अधिकारी, विरार के जयवंत बजवले को विरार पुलिस स्टेशन में 63 पेज का ज्ञापन सौंपा गया| ज्ञापन के माध्यम से अतिरिक्त आयुक्त मनाले की ओर दोषियों पर उचित कार्रवाई करने की मांग की गयी है| वही बजवले की ओर से मामले की जांच के बाद कार्रवाई करने का आश्वासन दिया गया|ज्ञात हो कि मनपा प्रभाग “एच” अंतर्गत अमृत पंढरीनाथ कडुलकर(60)वसई पश्चिम दीवानमान,डोंगरी, स्वामी समर्थ श्रद्धा बंगला रश्मी प्लाझा के पास पत्नी, दो बेटे और एक बेटी के साथ रहते है|  अमृत का दीवानगांव स्थित मत्स्य और खेती का व्यवसाय है| पास में सीआरजेड की जमीन होने के कारण गत 10 वर्षों से कृषि की जमीन बेकार पड़ी हुई है| 8 दिसंबर 2018 की सुबह चचेरे भाई भूपेश कडुलकर ने फोन पर अमृत को बताया कि जमीन से जेसीबी लगाकर बड़े पैमाने पर मिटटी निकाली जा रही है| बालाजी कंस्ट्रक्शन के मालिक बबन महिपत मोहिते के ठेकेदार सुनील वामन द्वारा भारी मात्रा में मिटटी की भरनी की गयी थी| मौके पर जमीन मालिक द्वारा मिटटी निकालने की कार्रवाई को रोका गया| गौरतलब है मनपा की ओर से उक्त विवादित स्थान पर पुल निर्माण का कार्य किया जा रहा था| ठेकदार का पुल निर्माण कार्य बाधित होने पर प्रभारी सहायक आयुक्त गिल्सन घोंसाल्विस और उपशाखा अभियंता आर.के. पाटिल घटनास्थल पर पहुंचे| देखते ही देखते बड़ी संख्या में आसपास के नागरिक इकट्ठा होने लगे| सूचना मिलते ही पुलिस भी घटनास्थल पर पहुंची| मनपा अधिकारियों को जमीन मालिक की ओर से अपशब्द का प्रयोग कर अपमानित भी किया गया| यही नहीं पुलिस द्वारा निजी वाहन की बजाय पुलिस की वाहन में बिठाकर माणिकपुर पुलिस स्टेशन लाया गया| इस दरम्यान पुलिस की ओर से मनपा अधिकारियों की एक भी नहीं सुनी गयी| मामले की गंभीरता को लेते हुए प्रभाग “एच” दोनों अधिकारियों द्वारा मनपा के उच्चधिकारियों के समक्ष अपनी बात रखी गयी| मनपा मुख्यालय की ओर से उक्त मामले में दोषियों पर मामला दर्ज करने और उचित कार्रवाई को लेकर विचार किया गया| 12 दिसंबर 2018 को सुबह 11.00 बजे मनपा के 9 प्रभाग सहित सभी विभागों के अधिकारियों और कर्मचारियों द्वारा ब्लैक पट्टा बांधकर शांति पूर्वक एक दिन का आंदोलन किया गया| आंदोलन के बाद मनपा अतिरिक्त आयुक्त रमेश मनाले के नेतृत्व में मनपा का एक शिष्ट मंडल दल विरार के उपविभागीय पुलिस अधिकारी से मुलाकात कर अपनी बात रखी गयी है और उन्हें ज्ञापन भी सौंपा गया|
 
Share

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here