महाराष्ट्र पुलिस समेत देश भर के पुलिस बल में आक्रोश, साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के भाषण को लेकर भाजपा पर महाआघाड़ी का हमला

0
90
कांग्रेस-राकांपा ने पीएम मोदी और सीएम फडणवीस से की साध्वी को भाजपा से निकालने की मांग
महाराष्ट्र पुलिस समेत देश भर के पुलिस बल में आक्रोश
Share

…कांग्रेस-राकांपा ने पीएम मोदी और सीएम फडणवीस से की साध्वी को भाजपा से निकालने की मांग

– NDI24 नेटवर्क

मुंबई. महाराष्ट्र पुलिस समेत देश भर के पुलिस बल में आज जबरदस्त आक्रोश का माहौल है। भोपाल से मालेगांव बम धमाकों की आरोपी साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को प्रत्याशी बनाना भाजपा की देश विरोधी राजनीति को उजागर करता है। वहीं प्रज्ञा ठाकुर की ओर से खुले मंच पर महाराष्ट्र के पूर्व एटीएस प्रमुख व शहीद (26/11 आतंकी हमला) हेमंत करकरे की शहादत को उनका श्राप बताया जाना भाजपा की राष्ट्र विरोधी राजनीति को दर्शाता है। वहीं महाआघाड़ी ने भाजपा पर जबरदस्त हमला करते हुए शुक्रवार को कहा कि आज मोदी-शाह-फडणवीस रोजगार-विकास के उलट शहीदों का अपमान कर पर उतर आए हैं। महाआघाड़ी ने प्रेस वार्ता में भाजपा पर आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा आज शहीदों की शहादत का अपमान करते हुए आवाम से वोट मांग रही है। इस मौके पर कांग्रेस के प्रदेश महासचिव सचिन सावंत, राकांपा के वरिष्ठ नेता नवाब मालिक समेत महाअघाड़ी के डॉ. राजू वाघमारे, संजय तटकरे, क्लाईड क्रास्टो उपस्थित रहे।

बर्दाश्त नहीं करेगी देश की जनता : मालिक…

राकांपा के वरिष्ठ नेता नवाब मालिक ने कहा कि महाराष्ट्र के महान वीर पुत्र करकरे की शहादत का अपमान करने वाली प्रज्ञा ठाकुर के खिलाफ तुरंत कार्रवाई करते है उन्हें भाजपा से निकाल देना चाहिए, वर्ना महाराष्ट्र समेत देश भर के पुलिस बल की नाराजगी का सामना करना पड़ेगा। उन्होंने भाजपा को चेताते हुए कहा कि बम ब्लास्ट में मिली बाइक भी भाजपा उम्मीदवार साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के नाम ही थी। इससे साफ जाहिर होता है कि भाजपा आज पुलवामा अटैक में शहीद हुए जवानों पर भी राजनीति कर रही है। भाजपा पर शहीदों के अपमान का आरोप लगाते है मालिक ने कहा कि इस तरह की राजनीति को देश की जनता बर्दाश्त नहीं करेगा।

तैयार है देश की जनता : सावंत…

वहीं पीएम मोदी और सीएम फडणवीस से प्रज्ञा ठाकुर को भाजपा से बाहर निकालने की मांग को लेकर कांग्रेस प्रदेश महासचिव सचिन सावंत ने कहा कि महाअघाड़ी शहीद करकरे के परिवार के साथ है। जबकि करकरे की जांच में ही सामने आया था कि भाजपा के सीनियर लीडर राजनाथ सिंह की हत्या की साजिश रची जा रही थी, जो बरामद लैपटॉप से एटीएस जांच में पता चला था। राष्ट्र हित की बात करने वाली भाजपा पार्टी को नसीहत देते हुए सावंत ने कहा भाजपा को साध्वी पर तुरंत एक्शन लेने की जरूरत है। साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को लेकर भाजपा पर जोरदार निशाना साधते हुए सावंत ने कहा कि अब मोदी और शाह की देश विरोधी नीतियों को आवाम समझ गई है, जिसका सामना करने के लिए देश की जनता तैयार है।

भाजपा-शिवसेना को होगी शिकस्त : पाटील…

वहीं इस मामले पर तीव्र प्रतिक्रिया देते हुए राकांपा प्रदेशाध्यक्ष जयंत पाटील ने कहा कि मालेगांव बेम कांड की आरोपी साध्वी प्रज्ञा ठाकुर को लोकसभा का उम्मीदवार बनाया जाना, भाजपा की देश के प्रति प्रेम को दर्शाता है। साध्वी ने खुले मंच पर शहीद करकरे की शहादत का मजाक बनाया और देश की रक्षा में जुटे शहीद को उनका श्राप बताया है, जो काफी निंदनीय है। इस पर भाजपा-शिवसेना पर निशाना साधते हुए पाटील ने कहा कि महाराष्ट्र की जनता एक सच्चे शहीद का अपमान नहीं सहेगी, जिसके बदले में भाजपा-शिवसेना को करारी शिकस्त मिलने वाली है।

पुलिस ने बोलने से किया इनकार : एनडीआई24 टीम…

जबकि इस मामले की तह तक पहुंचने के लिए एनडीआई24 टीम की ओर से मुंबई पुलिस के पीआरओ को फोन किया गया और पूरी स्टोरी सुनते ही डीसीपी मनोज शर्मा ने साफ बोल दिया कि उन्हें इस मामले पर कुछ भी नहीं कहना है…। बहरहाल, ऑन ड्यूटी भले ही कोई पुलिस कर्मचारी न बोले, लेकिन डिपार्टमेंट में शहीद का दर्जा प्राप्त करकरे पर हुई भाजपा प्रत्याशी की ओर से आई गंभीर टिप्पणी पर जहां पूरा विपक्ष भाजपा पर हमला है, वहीं पीएम-सीएम से मांग की गई है कि आरोपी प्रज्ञा ठाकुर को अविलंब पार्टी से बाहर का रास्ता दिखाया जाए। 

भाजपा ने दिया आतंकी हमले के गुनहगार को लोस टिकट : सपा…

भाजपा से देश भक्ति का सवाल करते हुए सपा महाराष्ट्र प्रदेशाध्यक्ष अब आसिम आजमी ने आरोपी को हीरो बनाने का भाजपा पर आरोप लगाते हुए कहा कि मोदी जी देश भर में जहां शहीदों के नाम पर वोट मांग रहे हैं , वहीं भाजपा प्रत्याशी साध्वी की ओर से शहीद हेमंत करकरे, जिन्होंने 26/11 के मुंबई आतंकी हमले में आतंकवादियों से लड़ते हुए अपनी जान दे दी थी। आजमी ने आगे सवाल किया कि आखिर भाजपा की देश भक्ति की परिभाषा क्या है? वहीं आरोपी को हीरो बनाने को लेकर भाजपा पर तंज कसते हुए आजमी ने कहा कि भाजपा में कौन सी ऐसी उम्मीदवारों की कमी पड़ गयी थी, जो उसे मालेगांव जैसे धमाके के आरोपी को उम्मीदवार बनाने की मजबूरी आन पड़ी है। उस आतंकी हमले मे 7 लोग मारे गए थे, जबकि 100 से ज्यादा गख्मी थे। केस में बीमारी का कारण बताकर बेल पर बाहर आईं प्रज्ञा सिंह क्या इस कड़क धूप में भाजपा का प्रचार कर खुद कर पाएंगी…। वहीं आजमी ने चुनाव आयोग से मांग की है कि धर्म के आधार पर एक वीर शहीद हेमत करकरे को बेईज्ज़त करने वाले को कभी चुनाव लड़ने की अनुमति वापस ली जाए।

Share