कार्तिक पूर्णिमा और गुरुनानक जयंती धूमधाम से मनायी 

0
23
नगर कीर्तन और लंगर का आयोजन 
कार्तिक पूर्णिमा और गुरुनानक जयंती धूमधाम से मनायी 
Share

नगर कीर्तन और लंगर का आयोजन

वसई. जिले और तालुका में कार्तिक पूर्णिमा और गुरुनानक जयंती धूमधाम से मनाई गयी| इस अवसर पर स्थानीय लोगों द्वारा पवित्र नदियों में स्नान, दीपदान और पूजा, आरती, हवन तथा दान किया गया| पूर्णिमा के पावन पर्व पर गुरुनानक जयंती में हर्षोल्लास के साथ मनाई गयी| गुरुनानक की जयंती पर गुरुद्वारों में सबद कीर्तन और लंगर का आयोजन किया गया| गुरुनानक जयंती पर सिखों की ओर से गुरुद्वारों में दो दिवसीय कार्यक्रम का आयोजन किया गया है|

ज्ञात हो कि प्रति वर्ष की भांति इस वर्ष भी 23 नबंबर को कार्तिक पूर्णिमा के दिन गुरु पर्व मनाया जाता है| सिखों के प्रथम गुरु नानक देव का जन्म 15 अप्रैल 1469 को राय भोई की तलवंडी नामक स्थान पर हुआ था| यह स्थान सिखों का प्रसिद्ध धार्मिक स्थल माना जाता है|  सिख समुदाय के लोग दिपावली के 15 दिन बाद आने वाली कार्तिक पूर्णिमा के दिन ही गुरु नानकदेव जयंती मनाते हैं|  गुरु नानक देव ने अपने उपदेश में कहा कि ईश्वर एक है| वह सर्वत्र विद्यमान है| उन्होंने कहा कि लोगों को प्रेम, एकता, समानता, भाईचारा और आध्यत्मिक ज्योति का संदेश समाज में देना चाहिए| तालुका में गुरुद्वारा में आयोजित कार्यक्रमों को लेकर करन अरोरा ने बताया की पिछले 6 दिनों से वसई पश्चिम स्थित गुरुद्वारा में लंगर चलाया जा रहा है| वही नालासोपारा पूर्व साड़ी कंपाउंड  स्थित गुरुद्वारा में दो दिवसीय कार्यक्रम का आयोजन किया गया| अरोरा ने बताया कि कार्यक्रम के दूसरे दिन साडी कंपाऊंड से होते हुए वसई पूर्व के एवर शाईनसिटी स्थित ब्राडवे सिनेमा तक नगर कीर्तन निकाला जायेगा| और उसका समापन साड़ीकंपाउंड स्थित गुरुद्वारा में किया जायेगा|इस अवसर बड़ी संख्या में सिख समुदाय के लोगों द्वारा नगर कीर्तन में भाग लिया जायेगा|
Share

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here