सद्भावना सत्संग सम्मेलन का आयोजन

0
40
सद्भावना सत्संग सम्मेलन का आयोजन
Share

सच्चे सद्गुरु ईश्वर का अनुभूति कराते हैं : मुसाफिरानंद

– NDI24 नेटवर्क 

वसई. मानव उत्थान सेवा समिति श्रीहंस विजय नगर आश्रम एवरशाइन सिटी वसई पूर्व के तत्वाधान में सद्भावना सत्संग का आयोजन किया गया| यह आयोजन नालासोपारा पूर्व स्थित गजानन हाउसिंग सोसायटी तुलींज नाका पोस्ट ऑफिस के पास कमलेश मिश्रा आयोजित किया गया| सद्भावना संत सम्मेलन के दौरान लाल मोहम्मद द्वारा ” जागो जहां वालो मुसाफिरानंद आए हैं, श्री सतपालजी महाराज का संदेशा लाए हैं ” का गीत सुनाकर सबको मंत्रमुग्ध कर दिया। सम्मेलन में घनश्याम भाई, उद्धारानंदजी और महात्मा गोपालानंद आदि महात्माओं द्वारा अपने-अपने विचार व्यक्त किये गए| इनके द्वारा मानव जीवन की सार्थकता और भजन करने पर जोर दिया गया ।  श्रीहंस विजय नगर आश्रम के प्रमुख व सदगुरुदेव श्री सतपालजी महाराज के शिष्य महात्मा मुसाफिरानंद द्वारा उपस्थित श्रोतागणों को कहा कि सभी धर्मों में जो एक बात जानने के संदर्भ में जानकारी दी। उन्होंने कहा की भगवान के नाम को बाइबिल में होली नेम कहा, कुरान में पाक नाम और रामायण में पावन नाम कहा है। इसी तरह भगवान के रूप के बारे में बताते हुए कहा कि बाइबिल में “डिवाइन लाइट” कहा है, कुरान में “नूरे इलाही” और वेदों में “भर्गो ज्योति” से संबोधित किया गया है। यही नहीं भगवान का नाम ज्योति ही नहीं बल्कि बाइबिल में “डिवाइन म्यूजिक”, कुरान में “गैबी आवाज” और हिंदू शास्त्रों में परमात्मा को “अनहद नाद” से भी संबोधित किया है| उन्होंने बताया कि भगवान को पाने के लिए अमृत पान करने कि विधि को जानना चाहिए, जिसे बाइबिल में नेक्टर कहा, कुरान में जम जम और हिंदू धर्म में खेचरी मुद्रा कहा है, जिसे करने से मन अंतर्मुखी होता है| मुसाफिरानंद ने उपस्थित भक्तगणों को संबोधित करते हुए कहा कि इन चारों क्रियाओं का ज्ञान जो गुरु शिष्य को कराते हैं उसे ही सच्चा गुरु कहा है सच्चे गुरु सूरज की भाँति स्वयं चमकते हैं और शिष्यों को भी चमकाते हैं| सद्भावना सत्संग सम्मेलन कार्यक्रम को सफल बनाने में कमलेश मिश्रा, सुरेंद्र मिश्रा, सोसायटी के चेयरमैन अश्विनी शुक्ला, बलराम, नंदू यादव, राधेश्याम, सीमा मिश्रा, छोटेलाल, और मनीष आदि का सराहनीय योगदान दिया गया| कार्यक्रम का मंच संचालन नंदलाल तिवारी द्वारा किया गया| सम्मेलन महाप्रसाद के वितरण के साथ ही आयोजन का समापन किया गया।

Share

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here