डेंगू, मलेरिया रोकने के लिए BMC की पहल, काम के लिए स्वयंसेवकों होगी नियुक्ति…

0
95
92 लाख रुपये होंगे खर्च, स्थाई समिति की बैठक में इस प्रस्ताव को मंजूरी
डेंगू, मलेरिया रोकने के लिए बीएमसी की पहल
Share

92 लाख रुपये होंगे खर्च, स्थाई समिति की बैठक में इस प्रस्ताव को मंजूरी

– NDI24 नेटवर्क

मुंबई. मुंबई में निर्माण कार्य की जगहों और बरसात के समय में डेंगू, मलेरिया आदि बैक्टीरिया जन्य रोगों की रोकथाम के लिए दवाईयों का छिड़काव किया जाएगा। इसके लिए 45 स्वयंसेवकों की नियुक्ति की गई है। बीएमसी की ओर से कार्य के लिए सहकारी संस्था, बेरोजगार सेवा सहकारी संस्थाओं के साथ अनुबंध  किया गया है। बीएमसी इस कार्य के लिए तक़रीबन 92 लाख रुपये खर्च करने वाली है। मंगलवार को स्थाई समिति की बैठक में इस प्रस्ताव को मंजूरी दे दी गई।

कीटनाशक का होता है छिड़काव…

गौरतलब है कि मुंबई में निर्माण कार्य की जगहों पर और बरसात के दिनों में लोगों को विभिन्न बीमारियों का सामाना करना पड़ता है। इन बढ़ती बीमारियों पर नियंत्रण रखने के लिए बीएमसी की ओर से मच्छरों के अड्डों की उत्पत्ति के स्थान की जांच कर निर्माण कार्य और झोपडपट्टियों सहित अन्य जगहों पर मच्छरों की उत्पत्ति को नष्ट करने के लिए कीटनाशक का छिड़काव किया जाता है। मुंबई में निरंतर बढ़ रहे निर्माण कार्य के कारण डेंगू और मलेरिया आदि बीमारी बढ़ रही है।

जल्द होगा क्रियान्वयन…

इन्हें रोकने के लिए बरसात के समय बीएमसी के कीटकनाशक विभाग की ओर से सहकारी संस्था व बेरोजगार सेवा सहकारी संस्थाओं के स्वयंसेवकों की पांच से सात महीनों के लिए नियुक्ति की जाती है। इस बार भी स्वयंसेवकों की नियुक्ति के प्रस्ताव को स्थाई समिति में मंजूरी दे दी गई।अब जल्द ही इसे क्रियान्वयन किया जाएगा। निर्माण कार्य की जगह और मच्छरों की उत्पत्ति को रोकने के लिए सात महीने की कालावधि में 35,62,446.72 लाख रुपए खर्च कर 25 स्वयंसेवकों और बरसात के दिनों में जून से अक्टूबर पांच महीने की कालावधि के लिए 20,52647.87 लाख रुपए खर्च कर 20 स्वयंसेवकों की नियुक्ति की जाएगी।

Share